देशभर के 600 स्टेशनों पर जल्द मिलेगी अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधा - khabar abhi tak

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, May 16, 2019

देशभर के 600 स्टेशनों पर जल्द मिलेगी अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधा


 एजेंसी। रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को विश्व स्तरीय सुविधा उपलब्ध कराने की योजना पर पिछले दो वर्ष से काम चल रहा है। बहुत से स्टेशन पर काम शुरू भी हो चुका है, लेकिन अब भी ज्यादातर स्टेशनों पर काम शुरू होना बाकी है। लिहाजा रेलवे ने अपने सभी जोन को तत्काल इस दिशा में काम शुरू कराने का आदेश जारी किया है। इस योजना के तहत रेलवे बहुत जल्द यात्रियों को अपने स्टेशनों पर ही ठहरने के लिए होटल जैसी सुविधाएं किफायती दरों पर उपलब्ध कराने जा रहा है। रेलवे विभाग, आईआरसीटीसी के साथ मिलकर यात्री सुविधाओं को बेहतर करने की दिशा में इस योजना पर काम कर रहा है। रेलवे का प्रयास है कि यात्री सुविधाओं के साथ ही देश भर के सभी प्रमुख रेलवे स्टेशनों को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाया जाए। इसके लिए कवायद भी शुरू कर दी गई है।
रेलवे ने अपने सभी जोन को आदेश जारी करते हुए कहा है कि वह स्टेशन पर मौजूद रिटायरिंग रूम और डारमेट्री को तत्काल आईआरसीटीसी को सौंपने की प्रक्रिया शुरू कर दें। आईआरसीटीसी इन डारमेट्री व रिटायरिंग रूम को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विकसित करेगी। इसके बाद यात्रियों को इनकी ऑनलाइन बुकिंग की सुविधा प्रदान की जाएगी। इन डारमेट्री व रिटायरिंग रूम में यात्रियों को होटलों जैसी खाने-पीने और मनोरंजन आदि की सुविधाएं मिलेंगी। रेलवे बोर्ड के अनुसार आईआरसीटीसी द्वारा अपग्रेड किए जाने वाले रिटायरिंग रूम व डारमेट्री में यात्रियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं मिलेंगी। इसमें बेहतरीन बिस्तर के साथ, अलमारी, लॉकर, एलईडी टीवी, टेलिफोन, इंटरकॉम, अग्निशमन यंत्र, पोर्टेबल वाटर और रूम हीटर जैसी सुविधाएं शामिल होंगी।स्टेशनों पर ठहरने की विश्वस्तरीय सुविधाएं उपलब्ध कराने के साथ ही यात्रियों को टूर एंड ट्रैवेल की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। इसमें लोकल साइटसीइंग (स्थानीय पर्यटन) की सुविधा भी शामिल होगी।

72 घंटे पहले होगी बुकिंग
भारतीय रेलवे द्वारा फिलहाल देशभर के 600 रेलवे स्टेशनों पर 2000 से ज्यादा रिटायरिंग रूम और डारमेट्री की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। इन्हें आईआरसीटीसी को सौंपने के पीछे मकसद है कि यात्रियों को कम कीमत पर स्टेशन पर ही ठहरने या विश्राम करने की बेहतर व सुरक्षित सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। इन रिटायरिंग रूम और डॉरमेट्री को 72 घंटे पहले बुक कराया जा सकेगा। पिछले दो वर्ष में इनमें से अब तक मात्र 32 स्टेशनों के रिटायरिंग रूम और डारमेट्री आईआरसीटीसी के सुपुर्द किए गए हैं। आईआरसीटीसी अन्य स्टेशनों पर भी इन सुविधाओं को उपलब्ध कराने की योजना पर काम कर रहा है। स्टेशन पर मिलने वाले रिटायरिंग रूम और डारमेट्री की बुकिंग चार स्लॉट में 72 घंटे पहले कराई जा सकेगी। ये चार स्लॉट होंगे, तीन घंटे के लिए, छह घंटे के लिए, 12 घंटे और 24 घंटे के लिए। स्लॉट और स्टेशन के हिसाब से इनकी बुकिंग दरें अलग-अलग होंगी।

कुछ स्टेशनों को दी छूट
रेलवे बोर्ड ने अपने पत्र में उन स्टेशनों को रिटायरिंग रूम व डारमेट्री सौंपने से छूट दी है, जहां पर जीर्णोद्धार का काम चल रहा है। इसमें भोपाल का हबीबगंज रेलवे स्टेशन, दिल्ली का आनंद विहार टर्मिनल स्टेशन व बिजवासन स्टेशन और गुजरात का गांधीनगर व सूरत स्टेशन शामिल है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here