रेलवे में हजारों लोको पायलटों-गार्डों के खिले चेहरे, NFIR/WCRMS को फिर बड़ी सफलता - khabar abhi tak

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Tuesday, April 30, 2019

रेलवे में हजारों लोको पायलटों-गार्डों के खिले चेहरे, NFIR/WCRMS को फिर बड़ी सफलता


जबलपुर। रेलवे के 30 हजार से ज्यादा लोको पायलट, सहायक लोको पायलट और गार्डों के चेहरे खिल गए हैं। NFIR और WCRMS के लगातार संघर्ष के परिणाम स्वरूप केन्द्रीय वित्त मंत्रालय ने नई दर से रनिंग भत्ता देने की मंजूरी प्रदान कर दी है। 

डब्ल्यूसीआरएमएस के महामंत्री अशोक शर्मा ने बताया है कि एनएफआईआर और डब्ल्यूसीआरएमएस के भरसक प्रयास से रनिंग एलाउंस की फाइल वित्त मंत्रालय से क्लियर होकर बोर्ड पहुची है जहां से जल्द ही 30000 से ज्यादा पायलट,सहायक पायलट और ट्रेन गार्डो को माइलेज का फायदा मिलेगा। यह माइलेज पूर्व के माइलेज से 211.8 प्रातिशत ज्यादा होगा। पिछले माह 13 अप्रेल को केबिनेट सेक्रेट्री के साथ सम्पन्न जेसीएम की बैठक में और 25 व 26 अप्रैल को रेल मंत्रालय में NFIR और रेलवे बोर्ड के मध्य हुई पीएनएम मीटिंग में रनिंग एलाउंस के मुद्दे को जोर-शोर से उठाया गया था। इसके बाद वित्त मंत्रालय ने दबाव के चलते  मंगलवार 30 अप्रेल को रेलवे बोर्ड द्वारा भेजी गई फाइल पर अंतिम मुहर लगा दी। रनिंग अलाउंस की क्लियर हुई फाइल के अनुसार 525/- प्रति 1000 किमी माइलेज का भुगतान 1 जुलाई 2017 से एरियर्स सहित किया जाएगा। 


इस फैसले पर महामंत्री अशोक शर्मा , कार्यकारी महामंत्री सतीश कुमार, मंडल अध्यक्ष एस.एन. शुक्ला, मंडल सचिव डी.पी. अग्रवाल, संयुक्त महासचिव एसके वर्मा, सविता त्रिपाठी, शेख  फरीद , विष्णु देव शाह,राकेश सिंह, सुनील टेक चंदानी, केके साहू, एस.आर. बाउरी, एस.के. श्रीवास्तव, अवधेश तिवारी, दीना यादव, जी.पी. सिंह, आर.ए. सिंह आदि ने हर्ष जाहिर किया है।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here