WCRMS और RKTA मिलकर लड़ेंगे ट्रेक मैन्टेनर्स की लड़ाई, 10 जुलाई को जयपुर में होगा अधिवेशन - khabar abhi tak

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, June 28, 2019

WCRMS और RKTA मिलकर लड़ेंगे ट्रेक मैन्टेनर्स की लड़ाई, 10 जुलाई को जयपुर में होगा अधिवेशन


जबलपुर। नेशनल फेडरेशन आफ इंडियन रेलवे (एनएफआईआर) के राष्ट्रीय अध्यक्ष गुमान सिंह की अध्यक्षता में फेडरेशन के केंद्रीय कार्यालय में रेलवे कर्मचारी ट्रेक मैन्टेनर्स एसोसिएशन (आरकेटीए) के राष्ट्रीय महामंत्री गणेषवर राव के साथ संयुक्त मीटिंग का आयोजन किया गया । बैठक में एनएफआईआर के राष्ट्रीय महामंत्री डॉ. एम. राघवैया, कोषाध्यक्ष दिलीप राय, सहायक महामंत्री विश्वनाथ सिंह यादव, राष्ट्रीय मीडि़या प्रभारी रंजीत मोदी, उत्तर पश्चिम के जोनल महामंत्री बी.सी.शर्मा , यूपीआरएमएस के महामंत्री विनोद मेहता, एनएफआईआर के कोषाध्यक्ष तपन चटर्जी व प्रेस सेक्रेटरी एस.एन. मलिक समेत कई राष्ट्रीय नेता प्रमुख रूप से उपस्थित थे । मीटिंग में आरकेटीए के महामंत्री गणेश्वर राव ने अपनी मांगो को रखते हुए कहा कि एनएफआईआर ने ट्रेकमेंटेनरों के साथ -साथ कई अन्य श्रेणियों के कर्मचारियों की मांगो को पूरा किया है ।

डब्ल्यू.सी.आर.एम.एस. के महामंत्री अशोक शर्मा ने बताया RKTA ने एनएफआईआर के साथ समझौता करते हुए कहा कि RKTA  WCRMS के साथ मिलकर कार्य करेगी तथा अगस्त 2019 में होने वाले मान्यता के लिए चुनाव में RKTA WCRMS के समर्थन में खड़ी रहेगी तथा WCRMS/NFIR के साथ मिलकर ट्रेक मैन्टेनर्स के हित की लड़ाई लड़ेगे ।

एनएफआईआर के कार्यकारी अध्यक्ष व डब्ल्यू.सी.आर.एम.एस के अध्यक्ष डॉ. आर.पी. भटनागर ने बताया कि खासकर ट्रैक मेन्टेनरों की सभी लंबित मुख्य मागों के लिये दोनों संगठन मिलकर संघर्ष करेंगे। ट्रेक मेन्टेनरों की मुख्य मांगो में एलडीसीई ओपन टू ऑल , 2800 ग्रेड पे अपग्रेडेशन कर ट्रैकमैन को 4200 ग्रेड पे देना, एलसी गेट समेत अन्य ड्यूटी कर रहे ट्रेकमैन को 12 घंटे से 8 घंटे करना, 30 फीसदी रिस्क और हार्ड शिप अलाउंस तथा वार्षिक अलाउंस 5000 की जगह 6000 दिलवाना भी शामिल हैं।

डब्ल्यू.सी.आर.एम.एस. के संघ प्रवक्ता सतीश कुमार ने बताया कि 10 जुलाई 2019 को जयपुर में आरकेटीए का अधिवेशन एनएफआईआर केएफिलिएट यूपीआरएमएस के साथ मिलकर आयोजित करने पर सहमति हुई ।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here