क्रू लॉबी निजी हाथों में, रेल यूनियन ने किया प्रदर्शन - khabar abhi tak

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Thursday, April 4, 2019

क्रू लॉबी निजी हाथों में, रेल यूनियन ने किया प्रदर्शन



जबलपुर। पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर रेल मंडल के सभी लोको पायलट लॉबी (क्रू लॉबी) को ठेके पर दिये जाने का जमकर विरोध शुरू हो गया है। 4 अप्रैल को इसके विरोध में एम्प्लाइज यूनियन ने जमकर नारेबाजी प्रदर्शन करते हुए इसे देश की सुरक्षा से खिलवाड़ बताते हुए उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। रेलवे बोर्ड का स्पष्ट निर्देश है कि मिलेट्री मूवमेंट से संबंधित ट्रेनों/मालगाडिय़ों की जानकारी किसी भी स्थिति में सार्वजनिक नहीं होना चाहिए, दूसरी तरफ चालक दल की व्यवस्था का महत्वपूर्ण अंग लॉबी को निजी हाथों में दिये जाने के बाद मिलेट्री मूवमेंट की जानकारी लीक हो सकती है। वहीं वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन ने इस निजीकरण का जमकर विरोध करते हुए प्रदर्शन किया और उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

वेस्ट सेंट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन के मंडल सचिव का. नवीन लिटोरिया ने बताया कि एक तरफ रेल प्रशासन रेलकर्मियों को लिखित आदेश जारी करता है कि किसी भी मिलेट्री गाड़ी, आर्मी मूवमेंट, गोला-बारूद व मिलेट्री व्हीकल से लदी हुई गाडिय़ां की जानकारी राष्ट्र की सुरक्षा हेतु किसी को भी न दें, वहीं दूसरी तरफ बुकिंग लॉबी व ट्रेन संचालन को ठेके पर देकर पूरी गोपनीयता भंग की जा रही है। साथ ही लॉबी का कार्य स्थायी प्रकृति का है, इसे ठेके पर नहीं दिया जा सकता।

लॉबी की व्यवस्था ठेके पर दिये जाने के विरोध में गुरूवार 4 अप्रेल को अपरान्ह 4 बजे बड़ी संख्या में यूनियन पदाधिकारी व कार्यकर्ता प्लेटफार्म नंबर 1 पर स्थित क्रू लॉबी के समक्ष एकत्र हुए और रेल प्रशासन के इस नादिरशाही निर्णय के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए नारेबाजी की। यूनियन के मंडल अध्यक्ष बीएन शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में लिंक बनाकर ट्रेनों का संचालन नहीं किये जाने से रनिंग स्टाफ को साप्ताहिक रेस्ट नहीं मिलना, समय पर अवकाश नहीं मिलना।

डीजल व इलेक्ट्रिकल दोनों ट्रेक्शन में कार्य कराये जाने, सिंगल पाइप से बीएमबीएस बॉक्स एन चलाये जाने, सीवाईएम जबलपुर द्वारा गार्ड बुकिंग में भ्रष्टाचार, बात-बात पर रनिंग स्टाफ को चार्जशीट दिये जाने, गाडरवारा रेस्ट हाउस में भारी असुविधा होने से रनिंग स्टाफ बेहद त्रस्त है। किसी भी दिन रनिंग स्टाफ का आक्रोश बढऩे से अप्रिय स्थिति उत्पन्न हो सकती है। उक्त सभी मुद्दों को महाप्रबंधक के समक्ष उठाया जाएगा। प्रदर्शन के दौरान का. निरंजन, रोमेश मिश्रा, सुशांतनील शुक्ला, योगेंद्र सहित अन्य वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किये।प्रदर्शन के दौरान बड़ी संख्या में कर्मचारी मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here