GDCE के 300 से अधिक पदों पर जीएम की मुहर, संघ के प्रयास लाए रंग - khabar abhi tak

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, March 29, 2019

GDCE के 300 से अधिक पदों पर जीएम की मुहर, संघ के प्रयास लाए रंग



जबलपुर। पश्चिम मध्य रेलवे के ग्रुप डी (चतुर्थ श्रेणी) कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। पश्चिम मध्य रेलवे प्रशासन ने पूर्व में जनरल डिपार्टमेंटल कांप्टीटिव एग्जाम (जीडीसीई) के तहत जो 55 पदों को भरने की अधिसूचना जारी की थी, उसे संशोधित करते हुए 300 से ज्यादा पदों की अधिसूचना जारी करने की कवायद तेज हो गई है। पमरे महाप्रबंधक अजय विजयवर्गीय ने इसके आदेश दे दिए हैं। 

गौरतलब है कि जीडीसीई के तहत 55 पदों का नोटिफिकेशन पूर्व में जारी किया गया था, जिसका वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे मजदूर संघ(WCRMS) ने पुरजोर विरोध किया। मजदूर संघ के अध्यक्ष डॉ आर पी भटनागर ने इस मुद्दे पर कड़ा एतराज जताया। संघ के जोनल महामंत्री अशोक शर्मा ने जीएम अजय विजयवर्गीय से मिलकर वार्ता की, जिस पर संज्ञान लेते हुए जीडीसीई  में 300 से अधिक पदों का संशोधन जीएम श्री विजयवर्गीय ने गत दिवस कर दिया है। जीएम ने 55 पदों की अधिसूचना को बढ़ाकर 300 से अधिक करने की अधिसूचना जारी किये जाने की स्वीकृति दे दी है।

मजदूर संघ के जोनल महासचिव अशोक शर्मा ने बताया कि मजदूर संघ के लगातार संघर्ष के परिणाम स्वरूप कर्मचारियों को GDCE की बढ़े हुए पदों की सौगात मिली है। इसके लिए संघ ने लगातार पमरे प्रशासन पर दबाव बनाया। GDCE से बढ़े हुए पदों पर पदोन्नति का भरपूर लाभ कर्मचारियों को होगा। शीघ्र ही बढे हुए पदों की अधिसूचना जारी होगी। श्री शर्मा ने बताया कि GDCE के और अधिक पदों के लिए मजदूर संघ का संघर्ष जारी है और आवेदन की अंतिम तिथि भी बढ़ाई जाएगी। सभी प्रश्न पत्र ऑब्जेक्टिव और OMR शीट पर होंगे, जिससे पारदर्शिता बनी रहेगी।  

संघ के कार्यकारी महासचिव सतीश  कुमार, मंडल अध्यक्ष एस.एन. शुक्ला, मंडल सचिव डी.पी. अग्रवाल, संयुक्त महासचिव एसके वर्मा , सविता त्रिपाठी, शेख फरीद , विष्णु देव शाह, राकेश सिंह, सुनील टेकचंदानी, केके साहू,एस.आर. बाउरी, एसके श्रीवास्तव,अवधेश तिवारी, दीना यादव, जीपी सिंह, आरए सिंह आदि ने हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि संघ हमेशा कर्मचारियों के हित के लिए संघर्ष करने कृत संकल्पित हैं।

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here