रेल जीएम के सामने खोला मांगों का पिटारा, मजदूर संघ ने आवास, रिक्त पद, क्रू में छेड़छाड़ जैसे कई महत्वपूर्ण मुद्दे उठाए - khabar abhi tak

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Wednesday, February 20, 2019

रेल जीएम के सामने खोला मांगों का पिटारा, मजदूर संघ ने आवास, रिक्त पद, क्रू में छेड़छाड़ जैसे कई महत्वपूर्ण मुद्दे उठाए


जबलपुर। पश्चिम मध्य रेल के महाप्रबंधक अजय विजयवर्गीय के समक्ष वेस्ट सेंट्रल रेलवे मजदूर संघ ने मांगों का पिटारा खोलते हुए इनके तत्काल निराकरण की मांग पुरजोर तरीके से उठाई। महाप्रबंधक श्री विजयवर्गीय ने सभी मांगों पर गंभीरतापूर्वक विचार करने और उनका निराकरण करने का आश्वासन दिया है।

वेस्ट सेंट्रल रेलवे मजदूर संघ के मंडल अध्यक्ष एसएन शुक्ला, मंडल सचिव डीपी अग्रवाल, कार्यकारी महामंत्री सतीश कुमार, मंडल कोषाध्यक्ष एसके सिन्हा, जनरल शाखा अध्यक्ष शेख फरीद, संजू पटेल ने विगत दिवस जीएम से मुलाकात कर उन्हें 19 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में पिपरिया व नरसिंहपुर में रेल सामुदायिक भवन बनाने, टीआरडी विभाग में लाइन के अनुरक्षण हेतु नए पदों का सृजन करने, श्रीधाम, नरसिंहपुर, करेली, गाडरवारा, पिपरिया, सोहागपुर में सेंट्रलाइज रेल आवास बनाए जाने, इन स्टेशनों पर कार्यरत कर्मचारियों को मेडिकल व शिक्षा की सुविधा उपलब्ध कराए जाने, प्वाइंट्समैन व गेटमैन के ड्यूटी रोस्टर 12 से 8 घंटे किए जाने, मंडल के एसएण्डटी विभाग में कार्यरत कर्मचारियों के ड्यूटी रोस्टर मौखिक के बजाय एसओईआर के अनुसार जारी किए जाने, रेलकर्मियों को मेडिकल सुविधा के लिए पिपरिया में डिस्पेंसरी चालू करने, नरसिंहपुर डिस्पेंसरी में एक महिला नर्स पदस्थ करने, विक्रमपुर-भिटौनी के बीच नर्मदा ब्रिज पर टेम्परेरी हट की जगह एक स्थायी हट शौचालय की सुविधा सहित बनाने, नरसिंहपुर व गाडरवारा स्टेशन पर सीनियर सर्वाडिनेट रेस्ट हाउस का निर्माण कराने, नरसिंहपुर, करेली, बनखेड़ी, पिपरिया में रेल आवासों की कमी दूर करने, जबलपुर स्टेशन पर मंडल पूल के रेल आवासों की कमी के कारण कर्मचारियों का 4 वर्ष के रजिस्टे्रशन के बावजूद आवास उपलब्ध न होने के कारण मंडल पूल के रेल आवासों का निर्माण कराने, सेफ्टी से जुड़े विभागों में रिक्तियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए पदोन्नति या विभाग परिवर्तन हेतु आवेदन फारवर्ड न किए जाने की समस्या दूर करने व रिक्तियों की पूर्ति करने, रेल आवासों के अनुरक्षण में आर्टीजन कर्मचारियों की कमी दूर करने, छोटे-छोटे स्टेशनों या यूनिटों में कार्यरत कर्मचारियों जैसे ट्रैकमैन, कांटेवाले, ईएसएम, टीसीएम, हेल्पर आदि की टीए जमा करने की बाध्यता 80 से 60 दिन करने, मजदूर संघ द्वारा पीएनएम में बार-बार अवगत कराए जाने के बावजूद जबलपुर मंडल में मुख्य लोको निरीक्षक पदोन्नति हेतु वर्ष 2015 में हुए सिलेक्शन में हुई विसंगतियों का अब तक निराकरण न होने की समस्या दूर करने, जबलपुर मंडल में रेलवे बोर्ड की नीति के विरूद्ध में मुख्य लोको निरीक्षक से सीपीसीओआर, सीसीसीओरआर के पद पर कार्य लिया जा रहा है। इसी प्रकार मुख्यालय में भी सीपीसीओआर के पद पर मुख्य लोको निरीक्षक कार्यरत हैं, जबकि मंडल में मुख्य लोको निरीक्षक की कमी है तथा सतना व न्यू कटनी जंक्शन में एक-एक लोको पायलट  को मुख्य लोको निरीक्षक के पद पर कार्य करने लगाया गया है, अत: बोर्ड कील उपरोक्त  नीति के अनुसार इन पदों पर केवल स्क्रीन्ड किए हुए लोको पायलट ही कार्य करना चाहिए। अत: बोर्ड की नीति का पालन कराया जाए। जबलपुर मंडल में मेल-एक्सप्रेस गाड़ी चलाने हेतु क्रू लिंक में अनावश्यक छेड़छाड़ किया जा रहा है, इसे बंद किया जाए। जबलपुर मंडल के आरआरआई पैनल कक्ष, स्टेशन प्रबंधक, मुख्य टिकट निरीक्षक आदि के कक्ष में कार्य स्थिति को बेहतर बनाने के लिए इनके कक्ष को वातानुकूलित किया जाए। जबलपुर मंडल में रोड साइड स्टेशनों पर पदस्थ कर्मचारी ड्यूटी रूम में वर्षों से रहने को बाध्य हैं। ऐसे कर्मचारियों को रेल आवास उपलब्ध कराए जाएं। मुगलसराय, झांसी, वाराणसी, इलाहाबाद आदि स्टेशनों पर जबलपुर से जाने वाले टीटीई स्टाफ के लिए बने रेस्ट रूम की व्यवस्थाएं दुरूस्त कराने, जबलपुर डिवीजन में ट्रैकमैन, हेल्पर, स्टेशन पोर्टर आदि पदों पर कार्यरत कर्मचारियों को पदोन्नति का लाभ दिलाने, साथ ही जीडीसीई के माध्यम से रिक्तियां शीघ्र निकालकर जीडीसीई 2016 में चयनित कर्मचारियों को शीघ्र रिलीव करने की मांग की गई है। 

No comments:

Post a Comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here