Home / Top / लोस चुनाव से पहले फर्जी खबरों पर और नकेल कसेगा ट्विटर

लोस चुनाव से पहले फर्जी खबरों पर और नकेल कसेगा ट्विटर

नई दिल्ली। चुनावी आबोहवा बनाने-बिगाडऩे में आज सोशल मीडिया एक अहम भूमिका निभाने लगा है। इसके माध्यम से लोग न सिर्फ राजनीतिक मुद्दों से जुड़ते हैं, बल्कि इस पर खुलकर बहस भी करते हैं। यह बड़ा लोगों पर अधिक प्रभाव भी छोड़ता है। इन सबके बीच फर्जी खबरों का चलन भी दिन ब दिन बढऩे लगा है। चूंकि अगले साल देश में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं, इसलिए ट्विटर प्रबंधन ने अपनी सोशल नेटवर्किंग साइट पर फर्जी खबरों को रोकने के लिए कमर कस ली है।
सोमवार को ट्विटर के सीईओ व को-फाउंडर जैक डोरसी आइआइटी दिल्ली के टाउन हॉल पहुंचे और संस्थान के छात्रों के साथ हुए संवाद में फेक न्यूज से जुड़े सवाल पर कंपनी की ओर से बयान दिया।

कंपनी की तरफ से ऐसे यूजर की गंभीरता से पहचान की जाएगी और फर्जी कंटेंट को रोका जाएगा। इसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद ली जा सकती है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि ऐसा कोई प्रावधान नहीं है, जिससे इस तरह की गतिविधियों को पूरी तरह से लॉक कर दिया जाए। ट्विटर एशिया पैसिफिक की वाइस प्रेसिडेंट व मैनेजिंग डायरेक्टर माया हरि ने कहा कि फर्जी खबरों वाले कंटेंट की रोकथाम के लिए विश्वभर में पिछले महीने से हर हफ्ते 94 लाख ट्विटर यूजर को पकड़ा गया है। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश है कि साइट पर दुर्भावनापूर्ण कंटेंट को भी रोका जाए। भारत में लोकसभा चुनाव के दौरान विदेशी तत्वों को ट्विटर का दुरुपयोग नहीं करने दिया जाएगा। इसकी रोकथाम के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे।

About City Editor 5

यह भी पढ़ें

रेलवे पुल पर 6 लीटर शराब सहित दबोचा गया

जबलपुर। जीआरपी ने रेलवे स्टेशन से लगे पुल नंबर एक के ऊपर 6 लीटर शराब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *