Home / Top / शहपुरा में हुए जघन्य हत्याकाण्ड का खुलासा, भतीजे को मारने घुसे थे , घर में मिला चाचा जिसकी हत्या कर जला दिया था

शहपुरा में हुए जघन्य हत्याकाण्ड का खुलासा, भतीजे को मारने घुसे थे , घर में मिला चाचा जिसकी हत्या कर जला दिया था

जबलपुर। विगत 29 नवंबर की तड़के शहपुरा भिटौनी में हुए सनसनीखेज हत्याकाण्ड का पुलिस ने खुलासा कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपी व्यापारी मंगल जैन के घर पर उसके भतीजे को मारने के लिए घुसे थे, लेकिन चाचा मंगल जैन के जाग जाने पर उसकी हत्या कर शव को जला दिया था।

एसपी अमित सिंह ने बताया कि 26 नवंबर को तड़के लगभग 4 बजे शहपुरा में बरमबाबा मंदिर के पास मंगल जैन के मकान में आग लगने की सूचना पर पहुंची पुलिस के द्वारा स्थानीय लोगों की मदद एवं नगर पंचायत शहपुरा की फायर ब्रिगेड से मकान मे लगी आग को बुझाया गया। मंगल जैन के परिजनों द्वारा बताया गया कि जिस कमरे में आग लगी थी उस कमरे में मंगल उर्फ राजकुमार जैन रहते थे। तलाश करने पर मंगल जैन का जला हुआ शव मिला एवं मकान के अंदर रखी अलमारी खुली पाई गई व उसमे रखा सामान अस्त व्यस्त पाया गया। सूचना पर पहुचे एसडीओपी पाटन एसएन पाठक, एफएसएल टीम एवं फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट की उपस्थिति में घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण करते हुये पंचनामा कार्यवाही कर मंगल उर्फ राजकुमार जैन पिता स्व. प्रेमचंदन जैन उम्र 49 वर्ष निवासी वार्ड न. 06 शहपुरा थाना शहपुरा जिला जबलपुर के शव को पीएम हेतु मेडिकल कालेज भिजवाया गया। पीएम रिपोर्ट में मृतक के सिर में मृत्यु पूर्व की चोट होना लेख किया गया। जांच पर सोने चांदी के जेवरात लूट कर मंगल जैन की हत्या कर मकान में आग लगाया जाना पाया जाने पर अपराध क्रमांक 462/18 धारा 394,302,201 भादवि का अपराध ंपंजीबद्ध कर प्रकरण विवेचना में लिया गया।

पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने बताया कि घटना को गम्भीरता से लेते हुये आरोपी की अविलम्ब पतासाजी कर उसकी गिरफ्तारी हेतु आदेशित किये जाने पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ग्रामीण डॉ रायसिंह नरवरिया के मार्ग निर्देशन में एक टीम गठित की गयी। टीम के द्वारा आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले गये। पतासाजी पर शहपुरा भिटौनी निवासी चीना श्रीवास्तव एवं उसके एक 16-17 वर्षीय साथी पर संदेह हुआ, जिनके घरों पर दबिश दी गयी जो घरो पर नहीं मिले, जिनकी सरगर्मी से तलाश की जा रही थी। जांच के दौरान 2 दिसंबर को मुखबिर से सूचना मिली कि प्रकरण के संदेही चीना उर्फ शुभम श्रीवास्तव तथा उसका साथी शहपुरा भिटौनी स्टेशन में ट्रेन से उतरकर घर की ओर गये हैं। इसके बाद तत्काल दबिश देते हुये चीना उर्फ शुभम श्रीवास्तव पिता दिलीप श्रीवास्तव उम्र 19 वर्ष निवासी भिटौनी स्टेशन के पास एवं 17 वर्षिय साथी निवासी बस स्टैण्ड शहपुरा को पकड़ा गया एवं सघन पूछताछ की गयी तो बताये कि राजकुमार जैन के भतीजे विक्की जैन ने धमकी दी थी कि यहां दिखे तो जान से मार देंगे। विक्की जैन को मारने के लिये घटना दिनांक को दोनों ने अन्नीलाल मेहरा के खेत की बाड़ी से लोहे की सब्बल लाकर सबसे पहले दुकान की शटर का ताला तोड़ा एवं सब्बल को मण्डी रोड पर

रख कर पुन: दुकान पर जाकर शटर उठाई व दोनों अंदर चले गये तथा शटर बंद कर दी। दुकान के ऊपर जाने पर कमरे मे सोये मंगल उर्फ राजकुमार जैन के जाग जाने एवं चिल्लाने पर चीना का साथी मकान के पिछले हिस्से से कूदकर भाग गया। मंगल उर्फ राजकुमार जैन चीना को पहचानते थे, चीना को डर था कि यदि नहीं मारा तो उसे फंसा देंगे। यह सेचकर चीना श्रीवास्तव ने अपने साथ ले जाये गये हंसिया से मंगल उर्फ राजकुमार जैन की गर्दन पर 02-03 वार किये। मंगल जैन के नीचे गिर जाने पर चीना ने बिस्तर के पास रखी गैस टंकी को उठाकर मंगल जैन के सिर पर 3-4 बार पटका जिससे मंगल जैन की मृत्यु हो गई तब चीना ने घर में गोदरेज की आलमारी से सोने चांदी के जेवरात निकाले और मंगल जैन के ऊपर बिस्तर के गद्दा पल्ली डालकर कपड़ा पर मिट्टी का तेल तथा खाने के तेल के दो डिब्बों से तेल डाला और एक पतले चद्दर में आग लगा कर कपडों में डाल दी तथा लूटा हुआ माल व दो थैलों में चिल्लर लेकर दुकान की शटर से निकल कर मण्डी तरफ से अपने घर जा रहा था कि रास्ते में 17 वर्षीय साथी मिल गया जिसे चीना ने माल का एक थैला दिया तो साथी अपने घर लेकर चला गया। चीना भी अपने घर पहुंचा एवं घटना में उपयोग किया हुआ हंसिया तथा थैला अपने घर की बिस्तर पेटी मे छुपा दिये तथा बदन पर पहने हुये कपड़े व जूते उतार कर एक बोरी में रख कर मकान के पास कुएं मे फंेक दिया।

आरोपी चीना श्रीवास्तव की निशानदेही पर घटना में उपयोग किया हुआ हंसिया जिस पर खून लगा है, एक सोने का हार वजनी करीब 32 ग्राम, चांदी के 11 सिक्के कीमती करीब 2000 रूपये तथा अलग-अलग पन्नियों में रखी 01-02 रूपये की चिल्लर व थैले के अंदर रखे हुये मृतक के बैंक का स्टेटमेंट, पैन कार्ड, 02 मतदाता पर्ची, एक स्टील का जग, घटना मे उपयोग की गई सब्बल तथा 17 वर्षीय साथी के घर से चीना द्वारा दिय गया थैला जिसके अंदर 01-02 रूपये सिक्के की 1500 रूपये की चिल्लर, 01 जोड़ चांदी की पायल करीब 300 ग्राम वजनी कीमती 12000 रूपये की जब्ती कर दोनों को न्यायालय पेश किया गया। न्यायालय से आरोपी चीना श्रीवास्तव का 03 दिन का पुलिस रिमाण्ड लिया जाकर पूछताछ की गयी तो चीना द्वारा मृतक के घर की आलमारी से ले जाये गये जेवर को भिटौनी रेल्वे स्टेशन के बाहर एक पुराने खण्डहर क्वार्टर में कचरे के नीचे छुपा देना बताया। चीना की निशानदेही पर 05 नग चांदी के करधन, 07 नग लच्छा, 13 नग पायल, 10 नग बिछिया, 10 चांदी के छोटे सिक्के जिनमें कुछ पर निरमा तलब पान मसाला, लाल दंत मंजन व 02 पर लक्ष्मी गणेश की मूर्ति बनी है, 03 नग चांदी के बड़े सिक्के जब्त किए गए। आरोपी से सघन पूछताछ जारी है।

इस जघन्य एवं सनसनीखेज अंधी हत्या का खुलासा कर गिरफ्तारी करने में थाना प्रभारी शहपुरा आसिफ इकबाल, उप निरीक्षक रवि शंकर उपाध्याय, इंजन सिंह, पीएसआई अनिल कुमार, आरक्षक देवेन्द्र जाट, प्रमोद पटेल, अभिषेक कौरव, राजकुमार मिश्रा, रामनरेश राजपूत, वीरेन्द्र यदुवंशी की सराहनीय भूमिका रही। पुलिस अधीक्षक अमित सिंह द्वारा सभी को नगद पुरस्कार से पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

About Editor

यह भी पढ़ें

कुएं में गिरा युवक, डूबने से हुई मौत

उमरिया/ नौरोजाबाद। उमरिया जिला के नौरोजाबाद में एक युवक कुएं में गिर गया, जिससे उसकी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *